5 BUSINESS IDEAS TO LEARN FROM THE IPL

Written by Sneh Desai on April 28, 2018

5 BUSINESS IDEAS TO LEARN FROM THE IPL




Sure, at first the Indian Premier League (IPL) looks like all play and no work. But if you really take a closer look at its business model, you shall realize how it has been successfully going on for more than a decade now and is still a very viable and attractive a business! The whole purpose of this post is to go beyond just the entertainment value that IPL has to offer, and actually make it a source of learning for us; mainly our businesses or work. So, read on and find out how we can adopt 5 business ideas from the IPL:-

1. Fundamentals are Key

– Yes the IPL has a completely new covering and packaging to a beloved sport, but what still makes it worthwhile is the fact that at the end of the day it is all about the love and passion for cricket that everyone shares! It is the most fundamental requirement. No matter what your respective business model is, it is about the passion and ambition you have for the work. Your specific passion or talent is what makes the difference. That is the basics, the fundamentals, without which pretty much all the efforts are kind of in vain. Think of all the successful businessmen or companies, what do they all have in common? All of them WANT to do what they are pursuing as their respective businesses!

2. Shuffle Around

– Every year before the IPL we learn about how some players are shuffled across teams. You know why? Because change is the only constant in the IPL! It is in fact extremely essential, especially if you want newer, better results. You have to keep changing according to the changing environment. I make sure to bring at least 20% change in my ‘Change Your Life’ signature event every 3 or 6 months. However, it is again important to note, that by change I do not mean the changing of the bigger picture or your visions. I mean small changes and shuffles to make sure everyone is working efficiently and effectively under you. For example, even though team members change every year, the bigger picture or the vision of each team is to win the competition.

3. Teamwork

– It is not necessary that if a team has Virat Kohli or M.S. Dhoni, then it is guaranteed to win. Even though the one who is leading the team is a terrific player, it does not signify that the entire team is as good as him. It is all about teamwork. It cannot be ignored at all. It is about joint effort. No matter how many employees you have working under you, but if you are unable to manage them properly, you shall not be able to optimize your result even though you individually are putting in your 100%. Such teamwork also helps you to learn to absorb small failures and go beyond it!

4. Appreciate Talent

– Not everyone is the same, there are always some players who stand out from the rest. This in itself should help you realize how important it is to appreciate talent in order to sustain it. For example, a team together sometimes is unable to win while some matches are won by the efforts of merely one or two players. Thus, along with teamwork, it is essential to appreciate those who are putting in the extra hard work through their sheer talent.

5. Working Under Pressure

– If there is one thing that the IPL is known for, it is some of the nail-biting overs, which makes it impossible to predict so as to which team could win! And more often than not, one team is under a little bit more pressure than the other till the last ball. This is how a business works too. Sometimes there is a lot of pressure which makes the work environment extremely intense. You have to learn how to be captain-cool under such circumstances. It’s not that easy and that’s why I devote one full day on how to manage your stress in my 4-days camp ‘Ultimate Life’.



5 व्यवसाय संबंधी विचार – आईपीएल से सीखने लायक!


पहली नजर में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में निश्चित रूप से, बगैर किसी काम के सिर्फ मौज-मस्ती ही दिखती है। लेकिन अगर आप वास्तव में उनके व्यापार मॉडल पर नज़र डालेंगे, तो आपको पता चलेगा कि एक दशक से भी अधिक समय से यह कैसे सफलतापूर्वक चल रहा है और अभी भी एक बहुत व्यवहार्य और आकर्षक व्यवसाय है! जो आईपीएल पेश करता है केवल उस मनोरंजन मूल्य से परे जाना और इसे मुख्य रूप से हमारे व्यापार या काम के लिए सीखने का वास्तव में स्रोत बनाना; ही इस पोस्ट का पूरा उद्देश्य हैं। तो, पढ़ें और जानें कि हम आईपीएल से 5 व्यवसाय संबधी विचार कैसे अपना सकते हैं: –

1. बुनियादी बातें कुंजी है

– हां, आईपीएल के पास एक प्यारे खेल के लिए पूरी तरह से एक नया आवरण और पैकेजिंग है, लेकिन जो उसे अभी भी सार्थक बनाता है वह यह तथ्य है कि, अंत में क्रिकेट के लिए प्यार और जुनून है जो हर कोई साझा करता है! यह सबसे मौलिक आवश्यकता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका संबंधित व्यवसायिक मॉडल क्या है, यह आपके काम के जुनून और महत्वाकांक्षा के बारे में है। आपका विशिष्ट जुनून या प्रतिभा यह अंतर बनाती है। यही मूलभूत बात है, बुनियादी बातों के बिना, सभी प्रयास बहुत व्यर्थ हैं। सभी सफल व्यवसायियों या कंपनियों के बारे में सोचें, उन सभी में क्या समान है? वे सभी अपने संबंधित व्यवसायों के रूप में जो कर रहें हैं वह खुद करना चाहते हैं!

2. छोटे-छोटे बदलाव करना

– हर साल आईपीएल से पहले हम देखते हैं कि कुछ खिलाड़ियों को कैसे दुसरे टीमों में डाल दिया जाता है। आप जानते हैं क्यों? क्योंकि आईपीएल में बदलाव ही स्थिरता है! यह वास्तव में बेहद जरूरी है, खासकर यदि आप नए, बेहतर परिणाम चाहते हैं। आपको बदलते माहौल के अनुसार बदलना होगा। मैं हर 3 या 6 महीनों में अपने ‘चेंज योर लाइफ’ सिग्नेचर कार्यक्रम में कम से कम 20% परिवर्तन लाना सुनिश्चित करता हूं। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि परिवर्तन से मेरा मतलब यह नहीं है कि उद्देश या आपका दृष्टिकोण बदलना। मेरा मतलब यह है कि आपके अधीन काम कर रहा/ रही हर कोई कुशलतापूर्वक और प्रभावशाली ढंग से काम कर रही/रहा है, यह सुनिश्चित करने के लिए छोटे बदलाव जरुरी है। उदाहरण के लिए, भले ही टीम के सदस्य हर साल बदलते हैं, फिर भी प्रत्येक टीम का उद्देश या दृष्टिकोण प्रतिस्पर्धा जीतना होता है।

3. सामूहिक कार्य (टीमवर्क)

– यह जरूरी नहीं है कि यदि एक टिम के पास विराट कोहली या एम. एस. धोनी है, तो जीत निश्चित है। भले ही टीम का नेतृत्व करने वाला एक शानदार खिलाड़ी हो, लेकिन वह यह संकेत नहीं देता कि पूरी टीम उनके जितनी ही अच्छी है। सब कुछ सामूहिक कार्य अर्थात टीमवर्क से होता है। इसे बिल्कुल अनदेखा नहीं किया जा सकता। संयुक्त प्रयास भी अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके पास कितने कर्मचारी काम कर रहे हैं, लेकिन यदि आप उन्हें सही तरीके से प्रबंधित करने में असमर्थ हैं, तो आप अनुकूल परिणाम पाने में सक्षम नहीं होंगे, भले ही आप व्यक्तिगत रूप से 100% मेहनत कर रहे हों। इस तरह का सामूहिक कार्य आपको आपकी छोटी-छोटी विफलताओं को हजम करने में और इससे आगे बढ़ने में सीखने में भी मदद करती है!

4. प्रतिभा की सराहना करें

– हर कोई एक जैसा नहीं होता है, कुछ खिलाड़ी हमेशा बाकीयों से अलग होते हैं। आप समझ सकते हैं कि इसे बनाए रखने के लिए प्रतिभा की सराहना करना कितना महत्वपूर्ण है। उदाहरण के लिए, कभी-कभी एक टीम जीतने में असमर्थ होती है जबकि कुछ मैच केवल एक या दो खिलाड़ियों के प्रयासों से जीते जाते हैं। इस प्रकार, टीमवर्क के साथ, उन लोगों की सराहना करना भी जरूरी है जो अपनी प्रतिभा के माध्यम से अतिरिक्त कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

5. दबाव में काम करना

– अगर एक चीज है जिससे आईपीएल जाना जाता है, तो वह हैं अत्यंत तनाववाले कुछ आखरी ओवर, जिससे यह भविष्यवाणी करना असंभव रहता है कि कौन सी टीम जीतेगी! और अधिकांशतः, एक टीम आखिरी गेंद तक दूसरे की तुलना में थोड़ी अधिक दबाव में होती है। एक व्यवसाय भी इसी तरह काम करता है। कभी-कभी बहुत दबाव होता है जिससे कार्य का वातावरण अत्यंत उत्तेजक बनता है। आपको सीखना होगा कि ऐसी परिस्थितियों में एक कप्तान जैसा शांत कैसें बनें रहें। यह इतना आसान नहीं है और इसलिए मैं अपने 4 दिनों के शिविर ‘अल्टीमेट लाइफ’ में अपने तनाव को नियंत्रित करने के तरीकों पर एक पूरा दिन समर्पित करता हूं।

Share