8 Habits of Highly Successful People

Written by Sneh Desai on September 2, 2017

8 Habits of Highly Successful People



People are not successful out of vain actions. Successful people are productive go-getters who make things happen instead of idly waiting for an opportunity to come across their path. They are pragmatic, positive, focused, passionate and quite contrary to others’ perceptions of them. For most of us, we see the vibrant aspects of the people we admire, conveniently overlooking their hard work, dedication, sincerity and diligence. This is exactly why we want to be successful and not work hard for it (because we secretly believe that it is how others do it!). Unfortunately, for 99% of us, success doesn’t happen overnight. Fortunately, though, there are small things each of us can make a point of doing every single day that will get us closer and closer to the success we desire.

They Get Up Early!
Studies show that early risers are not only more productive than night owls, but also happier and healthier. It is one of the most important attribute of the highly-successful. They know how to manage time and hence, they know the significance of getting up early and to get going. Many successful people cite their early morning routine as vital to a successful day. It’s important to consistently get up early, and use the morning productively.Well begun is half-done. Routine is key. Need I say more?
If you have trouble waking up early, there’s a SIMPLE 30-seconds technique that you can learn in Sneh Desai’s ‘CHANGE YOUR LIFE’ Workshop.

They Exercise
A healthy body image is extremely vital to bring about a boost in your self-esteem and can change your level of confidence entirely; making sure your mind is in par. Guess what? Successful people know that and live by it. They keep their bodies healthier. Exercise has many benefits – it is a stress buster, ensures a peaceful and an activated mind, a relaxed body-language etc. However, successful people do NOT overdo it. They allow themselves at least one day per week to let go and cheat a little. In fact, Barack Obama exercises 6 days a week (45 minutes per day); he clearly knows the significance of that one day of relaxation to recharge him for the next week. Learn amazing Health Secrets and therapies in one of Sneh’s advanced programmes called ‘ULTIMATE LIFE’ (4-days camp) where he spends one whole day for Health/Fitness.

They Can Strike A Balance
Successful people are dynamic strategists and not extremists in their thoughts or actions. They believe in striking a balance between work and play; professional and personal. They know the importance of both these facets of life and divide/devote their attention respectively. They prioritize as need be and to achieve the same utilize their time in a smart and productive way.

They Are Passionate
People who see success, unlike what we think, are not money-minded but just downright passionate! This is one of the most vital attitude-drift that distinguishes the successful from the unsuccessful. Successful people follow what their heart wants and have the guts to take risks for what they love instead of giving in to their financial needs (at the initial stage). However, once they taste success on a personal self-satisfying level, money is NEVER far away. NEVER! It is this passion and not financial greed that make them persevere through hard work irrespective of dark days and darker nights!

They Are Givers
People who have seen bad times know how important it is to help as many people as they can who are lurking in dark times. Contribution is one of the most significant goals that successful people keep in mind. They are aware of the world and its miseries and are torch-bearers in wanting to change the world for the better and believe in tolerant, egalitarian societies with equality for all irrespective of one’s caste, creed, color or sex.

They Set Small, Achievable Goals
Sure-footed, have a plan and divide their vision into small, achievable goals. Successful people are aware of reality and have a dynamic plan to cope with it by dividing their vision into small tasks that can be achieved. Do you exactly know how to set SMART Goals to make sure you achieve them effortlessly? Come to Sneh’s ‘CHANGE YOUR LIFE’ 2-days workshop to learn the result oriented goal achieving technique. Living in the present really helps them to adhere to this standard. They don’t make stale promises and pour out empty words; they get up, go and get what they want with all practicality intact!

They Stay Optimistically Motivated
The mind is a powerful thing, and if you’re not careful, you can sabotage yourself before you even begin. Persistence, optimism, and staying positive are all extremely important. And those who are successful are aware of the same. The world is a cruel place and can give you many reasons to lose heart, but those who tread on the impossible can do it only and merely because they are optimistically motivated because their intentions are pure and honest; and their vision crystal clear.

They Are In Touch With Their Inner Self
We all have great ideas but forget it the next instant. However, successful people keep in touch with their inner-self; their grave feelings and ideas. They don’t procrastinate. They give their ideas form in words and are very clear of the intention behind it along with having a clear course of actionplanned. They pen this all down; because they know the importance ideas have in building a monumental future. They devote their attention to their minutest thoughts and feelings and are self-aware. With our exposure to technology these days it actually isn’t very hard to do- just download Google Keep and you’re sorted!
There are even more important habits of successful people which guarantee the results you want. Learn those by ordering ‘Winning Habits DVD’ now by Sneh Desai.

निहायत सफल व्यक्तियों की ८ आदतें

लोग निरर्थक कार्य करने से सफल नहीं होते| सफल लोग फलप्रद एवम् चलते पुर्जे होते हैं जो उन्हें जो चाहिए उसे पाने के लिए वे अवसर का इंतजार नहीं करते पर वे खुद अवसर बना लेते हैं| वे लोग गुस्ताख, सकारात्मक, केन्द्रित, जोशीले और अन्य लोग उनके बारे में जो समझते हैं उससे विपरीत होते हैं| हम में से ज्यादातर लोग जोशीले लोगों की प्रशंसा करते हैं, और सुविधा जनक रूप से उनकी महेनत, निष्ठा, व परिश्रम को नज़र अंदाज़ करते हैं| इसी लिए हमें सफल तो होना है पर उसके लिए ज्यादा परिश्रम नहीं करना है [क्योंकि हम गुप्त रूप से यह मानते हैं की और लोगों ने भी इसी तरह से किया है!] दुर्भाग्यवश हम में से ९९% लोगों के लिए सफलता रातोंरात नहीं आती| फिर भी, भाग्यवश ऐसी छोटी छोटी चीज़ें है जो हम में से प्रत्येक व्यक्ति ध्यानसे व हर रोज करे, तो हमें जो सफलता चाहिए उसके अधिक करीब ले जाती हैं|

वे जल्दी उठते हैं!
अवलोकन बताते हैं की जल्दी उठने वाले लोग, उल्लू की तरह देर तक जागने वालों से न केवल ज्यादा फलप्रद होते हैं पर ज्यादा खुश और स्वस्थ भी होते हैं| यह अति सफल लोगों की एक अति महत्त्वपूर्ण विशेषता है| वे लोग समय का महत्त्व समझते हैं, लिहाजा जल्दी उठ कर वे अपना काम जल्दी शुरू कर देते हैं| कई सफल लोग अपने जल्दी उठने की दिनचर्या को कामयाब दिन के लिए अत्यावश्यक मानते हैं| याद रहे; लगातार जल्दी उठाना और सुबह को लाभकारी ढंग से उपयुक्त करना ज़रूरी है| अच्छी शुरुआत मतलब आधा कार्य सम्पन्न| नियमितता ही चाबी है| कुछ और कहने की ज़रुरत है?
यदि आपको जल्दी उठने में तकलीफ हो तो, डॉ. स्नेह देसाई के ‘चेंज योर लाइफ’ वर्कशॉप में एक सरल ३०-सेकण्ड की तकनीक है जो आप सीख सकते हैं|

वे व्यायाम करते हैं|
एक तंदुरस्त शारीर की छबी अत्यधिक मार्मिक है जो, आपके बौधिक स्तर को अपनी जगह पर रखते हुए, आपके आत्मसम्मान को बढ़ावा देकर आपके आत्मविश्वास का स्तर पूरी तरह से बढ़ा सकती है| सही मान सकते हो? सफल लोग यह जानते हैं और इसी पर जीवन भर अमल करते हैं| वे अपने शारीर को ज्यादा स्वस्थ रखते हैं| कसरत के काफी फायदे हैं – यह तनावमेक्त करती है, शांत और कार्यरत दिमाग को सुरक्षित रखती है, तनावमुक्त भाव-भंगिमा इत्यादि| फिर भी कामयाब लोग उसका अतिरेक नहीं करते| हफ्ते में एकाद दिन वे लोग थोडीसी धोखेबाजी कर लेते हैं| बराक ओबामा हफ्ते में ६ दिन (हर रोज़ ४५ मिनिट) व्यायाम करते हैं; उन्हें उस एक दिन के आराम का महत्त्व पता है जो उन्हें अगले हफ्ते के लिए तरोताज़ा कर देता है| डॉ स्नेह देसाई के एक अग्रवर्ती प्रोग्राम ‘अल्टीमेट लाइफ’ में स्वास्थ्य के अद्भुत रहस्य व थेरापी सीखें (४ दिवसीय कैंप) जहाँ वे एक पूरा दिन स्वास्थ्य/तंदुरस्ती के लिए निकालते हैं|

वे सामंजस्य बनाये रखते हैं|
कामयाब लोग अपने विचारों या क्रियाओं से स्फूर्त युध्दनीतिज्ञ हैं नाकि उग्रवादी| वे काम तथा खेल के बीच में सही सामंजस्य बनाये रखने में मानते हैं; व्यावहारिक और निजी| उन्हें ज़िन्दगी के इन दोनों पहेलुओं का महत्त्व मालूम है; अतः वे अपना ध्यान दोनों के बीच में बराबर-बराबर बाँटते हैं| जैसी व जब ज़रुरत हो वे उसी तरह से बातों को प्राथमिकता देते हैं और उसी को पाने के लिए अपने समय का बुध्दिमान व उत्पादक तरह से उपयोग करते हैं|

वे जोशीले होते हैं|
जो लोग कामयाबी देखते हैं; वे, हमारे विचारों के विपरीत, पैसों के बारे में सोचने वाले नहीं, परन्तु जोशीले होते हैं! रवैये में का यही एक सबसे महत्त्व का फर्क है जो कामयाब को नाकामयाब से अलग करता है| कामयाब लोग अपने दिल को जो चाहिए उसे पाते हैं और उसे पाने के लिए जो भी करना पड़े वह करने के लिए जोखिम उठा सकते हैं और अपने पसंदीदा वस्तु के लिए (शुरुआत के दिनों में) अपने आर्थिक जरूरतों के सामने घुटने नहीं टेक देते| लेकिन जब वे निजी तौर पर संतोष कारक कामयाबी को चख लेते हैं, तो पैसा कभी भी ज्यादा दूर नहीं होता| कभी नहीं! फिर चाहे दिन अँधेरे हो या रात काली, उन्हें कार्य करते रहने की प्रेरणा देने वाला यही जोश है नाकि पैसे की भूख|

वे देने वाले (दानवीर) होते हैं
जिन लोगों ने ख़राब समय देखा हुआ है उन्हें यह मालूम होता है की ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करनी चाहिए जो खुद ख़राब समय से गुजर रहे हैं और मदद की राह देख रहे हैं| सफ़ल व्यक्तिओं के दिमाग में योगदान देने का एक अर्थपूर्ण ध्येय होता है| वे दुनियादारी से वाकिफ होते हैं और उसकी विपदाओं से परिचित होते हैं| वे मार्गदर्शक होते हैं और दुनिया को बदलकर बेहतर बनाने के इच्छुक होते हैं और उदार, समानतावादी समाजों के इच्छुक होते हैं जहाँ हर एक व्यक्ति का समान हक़ होता है चाहे वह किसी भी जाती, धर्म, लिंग या रंग का हो|

वो छोटे और साध्य ध्येय रखते हैं
उन दृढ निश्चयी लोगों के पास एक नक्षा होता है और वे अपनी दूरदर्शिता को छोटे हिस्सों में विभाजित करते हैं और साध्य ध्येय रखते हैं| सफल लोग वास्तविकता से अवगत होते हैं और उससे निपटने के इए उनके पास गतिशील नक्षा होता है जिसमें वे अपनी दूरदर्शिता के छोटे कार्यों में बाँट के साध्य ध्येयों में बदल देते हैं| क्या आप को वास्तव में मालूम है की स्मार्ट ध्येय कैसे निश्चित करने चाहिए जिससे की उन्हें बिना प्रयत्न के पाया जा सके? डॉ. स्नेह के दो दिवसीय वर्कशॉप ‘CHANGE YOUR LIFE’ में आइये और परिणाम लक्षी ध्येय पानेकी रीत सीखिए| वर्तमान में रहेने की आदत उन्हें इस आदर्श से जोड़े रखती है| वे ना ही नीरस वादे करते हैं और ना ही खोखले शब्दों की बौछार करते हैं; वे स्वयं उठ खड़े होते हैं, निकल पड़ते हैं, और उन्हें जो चाहिए उसे, हर तरह की व्यवहारिकता को अखंड रखकर भी, प्राप्त कर ही लेते हैं|

वे आशावादी रूप से प्रेरित रहते हैं|
दिमाग एक शक्तिशाली चीज है, और अगर आप ध्यान नहीं देते तो शुरू करने से पहले ही आप खुद को नुक़सान पहुंचा सकते हैं| दृढ़ता, आशावाद और सकारात्मक रहेना यह सब बहुत ज्यादा जरुरी है| और जो सफल लोग है वे उससे अवगत है| दुनिया बड़ी ही निर्दयी है और आपको हिम्मत हारने के कई कारण दे सकती है, पर जो लोग अशक्य पर काम करते हैं वे उसे सिर्फ और सिर्फ इस लिए कर सकते हैं क्योंकि वे आशावादी और अभिप्रेरित होते हैं; उनके इरादे प्रमाणिक और शुध्द होते हैं और उनकी दूरदर्शिता एकदम साफ होती है|

वे अपने अंतर्मन के सम्पर्क में होते हैं
हम सबके पास उमदा धारणायें [सुझाव] होती हैं पर हम इन्हें अगले ही पल भूल जाते हैं| लेकिन सफल लोग अपने अंतर्मन, उनके अंदरूनी अनुभव और धारणाओं के संपर्क में रहेते हैं| अपनी धारणाओं को शब्दों में ढाल देते हैं और उनका मकसद साफ होता हैं की कैसे उसे कार्यान्वित किया जाय| वे लोग यह सारी बातें लिख लेते हैं; क्योंकि वे आश्चर्यजनक भविष्य बनाने में विचारों के महत्त्व को जानते हैं| वे अपना ध्यान सूक्ष्मतम विचारों व भावनाओं पर लगाते हैं और वे आत्मजागरूक हैं| आज-कल के तकनिकी दौर में यह करना कोई ज्यादा कठिन काम नहीं है – बस ‘गूगल कीप’ को डाउनलोड करें और आपका काम हो गया!
सफल लोगों की और कई आदतें हैं जो आपको मनचाहे परिणाम की गारंटी देती हैं| स्नेह देसाई की ‘विन्निंग हैबिट्स डीवीडी’ को मंगवा कर उन्हें सीखें|

Share