ARE YOU STUCK IN YOUR PAST?

Written by Sneh Desai on August 4, 2018

Get rid from your past




Most of us have a serious trouble getting over our past failures. This is because instead of focusing on what we can learn from it, we either run away from talking about our past or hold onto it for the wrong reasons. This is exactly what leads most people to have regrets in life. This attitude needs to change. All of us need to learn from our past instead of running away from it; and soon you will realize it is so easy to be objective about something that you thought bothered you!

1. Let Go –

The most basic form of learning you shall get from your past is to let it be in the past! One of the most common reasons for being depressed or sad in the present is the presence of sad experiences in the past. And the fear that such things will continue to repeat in our lives. Thus, if you are the kind of person who is constantly living in your past mistakes, hoping that you shall be able to change it, then your train of thought is on the wrong track. The past is gone; time waits for none! You can dream a thousand dreams hoping for things to be different, but only your future is in your hands. Take a diary or a journal and write down the feelings of the past and what you are still holding onto. This way it will be easier to see your past objectively in order to let it go. Also, if you can, talk about it with a confidant; it shall make you feel lighter.

2. Identify your weaknesses –

Past failures will very clearly define your weaknesses. Which is why when you look at it later you shall understand the causes or the kinds of weaknesses you have, i.e., what are the kind of situations you are unable to handle or find yourself stuck in too often. When you get a clear understanding of the same, you shall be able to find a solution. What can you do now so that you don’t consciously/unconsciously put yourself in the same spot?

3. Appreciate your strengths –

Undoubtedly when you sit to analyze your past it won’t be all thorns and no flowers! Once you identify your weaknesses, inevitably you shall able to understand what your strengths are too! But the more important aspect to learn from here is that your strengths should be able to help you understand what your motivations are, i.e., what are the things that you enjoy doing and can continue to do? What are the causes that energize you? What are some of the pursuits that you can run after relentlessly? Search them and go for it!

4. Change some habits –

Past habits create the most worry in us. Thus, the first step is to be able to identify little habits of your own self that not only make you a passive person but also disturb others around you. For example – constantly biting your nails, staying up all night, wasting time or spending a bit too much time on social media etc. Once you recognise these bad habits replace them with some healthier ones and make this change a steady one. And in case you are unable to think/ponder about your bad habits, please go and talk to your mom/ family and she will tell-it-all effortlessly! Numerous participants in my ‘Change Your Life’ Workshop breakthrough their years of bad habits in an instant and never returns there.

5. Reckon the distractions –

What are some of the things that distract you from your goals? The past becomes such a beautiful place if you can use it productively. Reckon those distractions by analyzing the amount of time that you have been wasting on it. After recognizing the same think about ways that you can control being distracted from them. What are some of the self-control methods that you need to incorporate? Are you able to say NO often? Why not? Do some soul-searching if you want a better future.

Why don’t you have a look at one of my books ‘All is well’ that has helped hundreds of people who have been living in the past? Learning from the past becomes an easy task as soon as you let it go and understand that it is not about just understanding problems, it is about investing time in mitigating the same! So accept your past instead of holding onto it and let it go by acknowledging the problems and being grateful for the good times!



क्या आप अपने अतीत में फंसे हुए हैं?

हम में से अधिकांश को अपनी पिछली असफलताओं से बाहर निकलने में गंभीर समस्या है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हम इससे क्या सीख सकते हैं, इस पर ध्यान देने के बजाय, हम या तो हमारे अतीत के बारे में बात करने से भागते हैं या गलत कारणों से इसे पकड़े रहते हैं। इसी कारण से ज्यादातर लोगों को जीवन में पछतावा होता है। इस रवैये को बदलने की जरूरत है। हम सभी को इससे दूर भागने के बजाय हमारे अतीत से सीखने की जरूरत है। जल्द ही आपको पता चलेगा कि जिसके बारे में आपको परेशानी थी उसके बारे में निष्पक्ष रहना आसान है!

1. चलिए, भूल जाते है –

सीखने का जो सबसे बुनियादी रूप आपको अपने अतीत से मिलेगा, इसे अतीत में ही रहने दीजिये! अतीत के दुखद अनुभवों से हम वर्तमान में उदास या दुखी होते है। हमें डर लगता है कि ऐसी चीजें हमारे जीवन में फिर से होगी। यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं जो लगातार अपनी पिछली गलतियों में डूबे हुए हैं और यह उम्मीद करते हैं कि आप इस पिछली गलती को बदल सकेंगे तो आपकी सोच गलत ट्रैक पर है। बीती बाते भूल जाएं। समय किसी के लिए इंतजार नहीं करता! आप हजारों सपने देख सकते हैं, इस उम्मीद से कि चीजे अलग हो सकती है। लेकिन केवल आपका भविष्य ही आपके हाथों में है। एक डायरी या जर्नल लें और अतीत की भावनाओं को और जो भी आप अभी भी पकड़ रखे हैं, उसे लिखें। इस तरह अपने अतीत को भूल जाने के लिए उसे निष्पक्ष रूप से देखना आपको आसान होगा। इसके अलावा, यदि आप कर सकते हैं, तो इसके बारे में किसी ऐसे व्यक्ति के के साथ बात करें जिनपर आपको भरोसा हो। ऐसा करने से आपको हल्का महसूस होगा।

2. अपनी कमजोरियों की पहचान करें –

आपकी पिछली असफलताएं आपकी कमजोरियों को स्पष्ट रूप से दिखा देगी। यही कारण है कि जब आप इसे कुछ समय बाद देखते हैं तो आपको आपकी कमजोरियों के कारण और प्रकार समझ में आ जायेंगे। यानी, आप किस तरह की परिस्थितियों को संभाल नहीं सकते या उनमे अक्सर अटक जाते हैं यह समझ में आ जायेगा। जब आपको इसकी स्पष्ट समझ मिलती है, तब आप इसका समाधान ढूंढ पाएंगे। आप जानबूझकर या अनजाने में खुद को उसी परिस्थिति में नहीं डालने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

3. अपनी ताकत की सराहना करें –

निस्संदेह जब आप अपने अतीत का विश्लेषण करने के लिए बैठते हैं तो सब कुछ बुरा भी नहीं होगा! एक बार जब आप अपनी कमजोरियों की पहचान कर लेंगे, तो आप अच्छे से समझ सकेंगे कि आपकी शक्तियां क्या हैं! आपकी ताकत से आपको यह समझने में मदद होनी चाहिए कि आपकी प्रेरणा क्या है। सीखने की यह सबसे महत्वपूर्ण बात है। आपको क्या करने में मजा आता है? कौनसी बात है जिसे आप जारी रखना चाहते हैं? कौनसी बातें आपको ऊर्जा देती है? ऐसी कौनसी चीजें है जिसके पीछे आप लगातार भाग सकते हैं? उन्हें खोजें और वे पूरा कीजिए!

4. कुछ आदतों को बदलें –

पिछली आदतें हमें सबसे ज्यादा चिंता में डालती हैं। इस प्रकार, पहला कदम खुद की छोटी-छोटी आदतों को पहचानना हैं जो आपको निष्क्रिय बनाते हैं और आपके आस-पास के दूसरे लोगों को भी परेशान करते हैं। उदाहरण के लिए – लगातार अपने नाखूनों को चबाना, सारी रात जागना, समय बर्बाद करना या सोशल मीडिया पर जरुरत से अधिक समय बिताना आदि। इन बुरी आदतों को पहचानने के बाद उन्हें अच्छी आदतों के साथ बदल दें और यह परिवर्तन पक्का कर दें। यदि आप अपनी बुरी आदतों के बारे में सोच नहीं सकते, तो कृपया अपनी माँ / परिवार के पास जाएं, उनसे बात करें। वे आपको बड़े आराम से सब कुछ बताएंगे! मेरे ‘Change Your Life’ (चेंज योर लाइफ) कार्यशाला में कई प्रतिभागियों ने अपने वर्षों पुरानी बुरी आदतों को तत्काल छोड़ दी और फिर कभी उसे अपनाये नहीं।

5. ध्यान विचलित होता है यह मानें –

वह कौनसी चीजें हैं जो आपको अपने लक्ष्यों से विचलित करती हैं? यदि आप अतीत का अच्छे से उपयोग कर सकते हैं तो वह एक सुंदर अनुभव बन जाता है। सोचे की आपने अतीत के बारे में सोचने में कितना समय बर्बाद किया हैं। यह पहचानने के बाद इस बात पर जोर दे की विचलित करनेवाले ऐसे विचारों को आप कैसे नियंत्रित कर सकते है। कौनसी आत्म-नियंत्रण विधियां हैं जिन्हें आप अपनाने की आवश्यकता है? क्या आप अक्सर ‘नहीं’ कह सकते हैं? क्यों नहीं? यदि आप एक बेहतर भविष्य चाहते हैं तो कुछ आत्मचिंतन करें।

आप मेरी एक किताब ‘All is well’ (ऑल इज़ वेल) पढ़िए, जिसने अतीत में रहने वाले सैकड़ों लोगों की मदद की है। अतीत से सीखना एक आसान काम बन जाता है जब आप इसे भूल जाते हैं और यह समझ जाते हैं कि यह केवल समस्याओं को समझने के बारे में नहीं है। यह समय बर्बाद करना है! तो इसे पकड़े रहने के बजाय अपने अतीत की समस्याओं को स्वीकार करें और वर्तमान के अच्छे समय के लिए आभारी रहें!

Share