How Healthy Are You?

Written by Sneh Desai on March 17, 2018

How Healthy are you




Health is something which is very subjective. It varies by different perspectives of how one measures their level of fitness. However, there are certain parameters which are constant. We are about to discuss some very generic concepts here in order to measure how healthy you really are. So read on to find out:-

1. Health hazards

– When you maintain general well-being, certain health difficulties such as common cold, cough, headache, back ache etc. are extremely infrequent. Thus, your normal routine is not hassled by these small health issues. However, even if you do fall prey to these common problems, you tend to recover pretty quickly indicating how strong your immunity system really is.

2. Energy Levels

– When you’re physically as well as mentally healthy, you tend not to feel tired and exhausted very easily. Your mood generally sways between happy to joyful, tolerable and maybe indifferent but definitely not tired, moody, cranky etc. too easily. When you are healthy you tend to take up new challenges with hope rather than despair. Basically, you are not a lazy-bum! (If you’d wish to see the electrifying and highest level of energy you could have ever witnessed, come to my signature event ‘Change Your Life’.)

3. Medication

– Do you have to take medication frequently? Or are you currently under directive medications? If so, it is indicative of some health inadequacy within you. This is the most obvious indicator of a lack of fitness. Sometimes people who are on medication are able to phase it out quickly. If you are one of those people then you are relatively healthy.

4. Workouts

– Are you the kind who works out regularly or at least three times a week? It is the most basal requirement for achieving a certain level of fitness. If you do so, then you might be healthier than you take credit for. Exercising regularly helps in preventing many chronic diseases and maintains good physical as well as mental stability.

5. Outdoors

– People who are healthier tend to feel the need to get out of the confines of their home and spend time outdoors amidst nature. It is reflective of better mood and mental health. It shows that you are free of stress and anxiety or are at least working towards becoming less stressed and anxious.

6. Personal Care

– Chapped lips, hair fall, excessively dry or oily skin, pimples etc. and other seemingly generic symptoms are indicative of a lack of personal care. Thus, your body is indicative of your health if you look at just basic signs like skin, hair etc. For example, excessively dry skin could be indicative of a lack of Vitamin C and other nutrients in your body. Look for these signs and analyse for yourself.

7. Insomnia

– Do you have sleep difficulties or in worst cases are nocturnal and an insomniac? If so, you NEED to see a psychologist or a psychiatrist in order to talk about any issues that you may be facing internally. All of us have personal battles to fight, but it should not be given so much importance so as to not let you fall asleep. It is indicative of high-levels of mental distress and will ultimately drain out vital nutrients from your body as well.

8. People

– Are you someone who is in constant touch with a lot of people on a daily basis and are really happy about it? Healthier people are happier and tend to really like having people around them and love making new friends & meeting new people. If you are not a people’s person (by choice) then there might be something wrong and you need to figure out why. However, it is absolutely normal to keep a safe distance from some people or to dislike certain kinds of people. But I am hoping you don’t hate humanity as a whole? Or do you?

9. Diet

– What do you tend to eat in a day? Is it rich in various nutrients or are you filling yourself up with a lot of junk and outside food on a regular basis? Because if you are following a lifestyle which promotes the latter then you are healthy only in your head! Health starts from within and good, enriching food is extremely essential; especially with growing age! I personally share some of my secrets of eating right and exercising in one of my most powerful courses ‘Ultimate Life’ which is a 4-days residential camp.

10. Other Habits

– There is no need for me to stress on this any further, but hurtful habits like smoking, drinking excessive alcohol etc. is undoubtedly indicative of poor health – whether you realize this or not is different but you are becoming more susceptible to mortal danger with every new cigarette you smoke or another dink that you consume.



आप कितने स्वस्थ हैं?


स्वास्थ्य ऐसा विषय हैं जो बहुत ही आत्मगत है| हर व्यक्ति का अपने स्वाथ्य के स्तर को नापने का अलग मापदंड व दृष्टिकोण होने के कारण यह बदलता रहता है| फिर भी कुछ मापदंड ऐसे हैं जो कायम हैं| हम यहाँ व्यापक रूप से कुछ सामान्य सिध्धान्तों की चर्चा करने वाले हैं जिससे यह नाप सकें की हकीकत में आप कितने स्वस्थ हैं| तो जानने के लिए पढ़िए:-

१. स्वास्थ्य खतरा

– जब आप स्वस्थ रहेने के सामान्य तरीके अपनाते हैं, तब आरोग्य की सामान्य तकलीफें जैसी सामान्य शर्दी, जुकाम, सिरदर्द, कमरदर्द इत्यादि अप्पको लगभग होती ही नहीं हैं| अतः, आपका नित्यक्रम इन छोटी बिमारियों के कारण तकलीफ में नहीं आता| फिर भी कभी, आप इन बिमारियों का शिकार हो भी जाते हैं, तो आप जल्दी से ठीक हो जाते हैं जिससे आपकी रोग प्रतिरक्षा कितनी मजबूत यह पता चलता है|

२. उर्जा स्तर

– आप जब शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होते हैं, तब आप जल्दी से थकान या कमजोरी महसूस नहीं करते| आपकी मनोदशा का झुकाव आनंदी और सुखद के बीच में होता है, आप अपक्षपाती और संतोषजनक होते हैं लेकिन कभी भी थके हुए या चिडचिडे या उदासीन बिलकुल नहीं होते| जब आप स्वस्थ होते हैं तब आप आशावादी में से नई चुनौतियां स्वीकारते हैं नाकि निराशा से| मूलतः आप निकम्मे व आलसी नहीं हैं! यदि आपने कभी भी ना देखी हो ऐसी उत्तेजित करने वाली व उच्चतम स्तर की उर्जा महसूस करके उसका साक्षी बनाना चाहते हैं तो मेरे चिन्हक कार्यक्रम ‘चेंज योर लाइफ’ में आइए|]

3. इलाज / औषधि

– क्या आप को बार बार इलाज की जरुरत रहेती है? या आप अभी कोई निर्दिष्ट दवाइयाँ ले रहे हैं? अगर हाँ, तो यह इस बात का संकेत है की आपमें स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई कमी है| चुस्तता की कमी का यह प्रत्यक्ष सूचक है| कई बार कुछ लोग जो दवाई ले रहे होते हैं वे जल्दी से उस अवस्था से बाहर निकल आते हैं| अगर आप उन लोगों में से हैं तो आप काफी हद तक स्वस्थ हैं|

४. व्यायाम

– आप उन लोगों में से हैं जो हररोज या हफ्ते में तीन दिन व्यायाम करते हैं? एक विशेष स्तर की चुस्ती पाने की यह प्रारंभिक जरुरत है| अगर आप यह करते हैं, तो आप जितना यश लेते हो उस से ज्यादा स्वस्थ भी हो सकते हैं| नियमित व्यायाम कई लम्बी बिमारियों से बचाता है और शारीरिक तथा मानसिक स्थिरता बनाए रखता है|

५. बाहर

– जो लोग स्वस्थ हैं वे घर में बंधे रहेने के बदले घर से बहार निकल कर कुदरत के सानिध्य में अपना समय बिताना करना चाहते हैं| यह बेहतर मनोदशा और मानसिक स्वास्थ्य का परावर्तक है| यह बताता हैं की आप तनाव और चिंता से मुक्त हैं या आप तनाव और चिंता कम करने की ओर कार्य कर रहे हैं|

६. निजी देखभाल

– फटे होंठ, झड़ते बाल, बहुत ज्यादा सुखी या तैली त्वचा, मुंहासे, आदि, तथा अन्य सामान्य रूप से दिखने वाले लक्षण बताते हैं की आप निजी देखभाल में लापरवाह है| अतः, यदि आप बिलकुल मूलभूत लक्षण, जैसे कि, त्वचा, बाल, आदि को देखें तो आपका शरीर आपके स्वास्थ्य का सूचक है| उदाहरणार्थ अत्यधिक शुष्क त्वचा विटामिन ‘सी’ और अन्य पोशक द्रव्यों की कमी से होती है| इन लक्षणों को ढूँढो और अपना विश्लेषण खुद करो|

७. अनिद्रा

– क्या आपको नींद की तकलीफ है? या सबसे ख़राब बात, क्या आप निशाचर और अनिद्रा के रोगी हैं? अगर हाँ, तो आपने मनोवैज्ञानिक या मनोचिकित्सक को मिलकर उनके साथ अपनी किसी भी अंदरूनी समस्या के बारे में बात करना अति आवश्यक है| हम सब की अपनी खुद की लड़ाइयाँ होती है, पर उन्हें इतना भी महत्त्व नहीं देना चाहिए जिससे हमारी नींद ही उड़ जाए| यह हमारे मानसिक तनाव को दिखाता है और इस से अत्यधिक मात्रा में शरीर से पोषक द्रव्यों का ह्रास होता है|

८. समाज

– क्या आप उन में से हैं जो हमेशा कई लोगों के संपर्क में रहते हैं और जो उस में खुश हैं? स्वस्थ लोग आनंदी होते हैं और उन का झुकाव लोगों से घिरे रहेने की ओर होता है तथा नए लोगों से मिलना और नए दोस्त बनाना उन्हें अच्छा लगता है| अगर आप मनुष्य प्रेमी नहीं हैं [मर्जी से] तो कहीं कुछ गलत है और आप को यह पता लगाना चाहिए कि ऐसा क्यों है| फिर भी कुछ लोगों से दूरी बनाये रखना या कुछ प्रकार के लोगों के प्रति घृणा होना आम बात है| पर मैं आशा करता हूँ की आप पूरी मानवता से घृणा तो नहीं करते? करते हो क्या?

९. भोजन

– एक दिन में आप क्या क्या खाते हैं? क्या आप अलग अलग पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करते हो या हमेशा बेकार, बाहरी पदार्थों से अपना पेट भरते हो? क्योंकि यदि आप ऐसी जीवन शैली का अनुसरण करते हैं जो दूसरी बात को बढ़ावा देती है, तो आप केवल अपने दिमाग में ही स्वस्थ हैं! स्वास्थ्य अन्दर से शुरू होता है और अच्छी संपन्न खुराक बहुत जरुरी होती हैं; खास करके बढती उम्र में! मैं खुद मेरी सही खानेकी आदतों और व्यायाम का रहस्य मेरे सबसे शक्तिशाली ४-दिवसीय आवासिक शिबिर ‘अल्टीमेट लाइफ’ में बताता हूँ|

१०. दुसरी आदतें

– मुझे इन बातों पर फिरसे दबाव डालने की जरुरत नहीं है, पर नुकसानदेय आदतें जैसे की धूम्रपान करना, अत्यधिक मदिरा (दारू) पीना आदि निस्संदेह रूप से बुरे स्वास्थ्य की सूचक हैं – आपको यह अहसास है (ज्ञात है) या नहीं यह अलग बात है, पर आप हर एक नई सिगरेट या हर नए जाम के साथ जानलेवा खतरे के लिए और अधिक योग्य बन रहे हैं|

Share