WAYS TO FIND PLEASURE IN YOUR WORK

Written by Sneh Desai on September 15, 2018

Ways to Find Pleasure in Life




“Work is Worship”, or is it? This statement majorly falls true for people who are fortunate enough to follow their passion or if they are doing something that they absolutely love. But for those who have accepted what has befallen on them, work is not always fun or maybe it is never fun at all! Today’s post is for people who find their work burdensome and feel extremely pressured by it. I interact with a lot of people on a daily basis through my ‘work’ and believe you me it is very easy for me to point out which person is actually truly happy with his job or his work or his “family” business. And I completely empathize with all of your problems especially when it comes to this particular topic because it is very difficult for me to imagine what I would do if I were not a motivational speaker/trainer. In fact, I can’t imagine my life without it. Thus, for people who are not enjoying what they are currently doing in their lives, I want to personally take the onus of changing it!

Make a list. It is a seemingly staple/boring first step, but it is a GREAT start! Make a list of all your strengths and weaknesses, and contemplate how you can utilize your strengths in your current workspace. But the most important thing to remember while you do this is that you are BIGGER than your work. This means that no matter how dreadful your work is you CAN handle it. You are capable and talented – you just need to channelize your strengths more smartly. This is also a great way to stay motivated whenever you face hardships. You are always greater, better and stronger than the pressures you are feeding yourself about your job/work.

The next step is to be ready to learn. Once you make a list you become aware of your strengths but also your weaknesses, i.e., now you know where you are lacking. For example – if you are working as a marketing head but if you are not too friendly or if you are not a people’s person then you shall not be able to give your 100% even though you probably have a great educational degree to support your roles and responsibility. So learn to be accommodating and adapt to different people. Sit with them talk about their likes/dislikes and what their motivations in life are. The more you tap into people’s positive sides, the more you shall be able to learn from them and in turn, they shall actually like having shared such information with you. See? So easy!

Sometimes all you need to do is change a habit or two and you are sorted. Most of our problems at workplace really lie in ego issues. If you have one of those problems – like if you don’t get along with your boss/colleagues/peers due to any disagreement or something, you need to re-evaluate your situation such that you can also view problems from their perspective. And think objectively. Is it even worth it to have stressed out relations with someone you have to meet and ‘greet’ every day? Sometimes these minute problems become a huge mountain of negativity. This is exactly what you need to tackle. If a sorry or a more gentle or friendly behavior can solve it all, please feel free to take the first step – especially if you proactively want to change how you feel about your work.

Some people also struggle with long hours and deadlines etc. I hate to break this to you, but everyone faces this. You shall have to improve yourself. If you always aim at doing GOOD work which nobody can question deadlines won’t pressure you. So don’t leave the best for the last, put your best foot forward now!

One of the simplest ways to enjoy work is to not bog yourself down with expectations. Don’t work because you want credit or praise or a raise! When you put pressure on yourself to work for these things you tend to think too much instead of giving your 100%. Make your motivations about the quality of your work. When your focus shifts there, credit, praise and raise will come to you by default without much hassle – and then you will be able to view it as a true achievement! Good luck and start doing these things NOW!

In my online course, ‘Money & Success’, there are many such ideas shared to take out the best of your hidden abilities.



आपके काम में खुशी ढूंढने के तरीके

“काम ही पूजा है”– क्या यह सच है? यह बात मुख्य रूप से उन भाग्यशाली लोगों के लिए सच होती है जो अपने जुनून को पूरा करनेवाला ही काम कर रहे होते हैं या ऐसे लोग जो ऐसा कुछ कर रहे होते हैं जिसे वे बहुत पसंद करते हैं। लेकिन उन लोगों के लिए जिनपर काम थोपा गया है, उनके लिए यह हमेशा मजेदार नहीं होता है या शायद कभी भी मजेदार नहीं होता! आज का पोस्ट उन लोगों के लिए है जो अपना काम बोझिल पाते हैं और इस कारण अत्यधिक दबाव महसूस करते हैं। मैं अपने ‘काम’ के माध्यम से हर दिन बहुत से लोगों से बातचीत करता हूं और आपको विश्वास देता हूं कि यह बताना मेरे लिए बहुत आसान है कि कौन सा व्यक्ति वास्तव में अपने काम या “परिवारिक” व्यवसाय से खुश है। मैं आपकी सभी समस्याओं के साथ पूरी तरह से सहानुभूति व्यक्त करता हूं, खासकर जब इस विषय की बात आती है क्योंकि मेरे लिए भी यह कल्पना करना बहुत ही मुश्किल है कि मैं क्या करता यदि मैं प्रेरक वक्ता / प्रशिक्षक नहीं होता। वास्तव में, मैं इसके बिना अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकता। इसलिये, उन लोगों के लिए जो अपने काम का आनंद नहीं ले पाते हैं, मैं व्यक्तिगत रूप से इसे बदलना चाहता हूं!

एक सूची बनाईये। यह हमेशा बताया जानेवाला उबाऊ पहला कदम होने के बावजूद अच्छी शुरुआत है! अपनी सभी अच्छाईयों और कमजोरियों की एक सूची बनाएं और इस बात पर विचार करें कि आप अपने वर्तमान कार्यक्षेत्र में अपनी अच्छाईयों का उपयोग कैसे कर सकते हैं। ऐसा करते समय आपको यह याद रखना होगा की आप अपने काम से बढ़कर हैं। इसका मतलब यह है कि आपका काम कितना ही कठिन क्यों ना हो आप इसे संभाल सकते हैं। आप सक्षम और प्रतिभाशाली हैं – आपको बस अपनी ताकत को अधिक बुद्धिमानी से उपयोग करने की आवश्यकता है। जब भी आप कठिनाइयों का सामना करते हैं, तब प्रेरित होने का यह एक शानदार तरीका है। आप अपने काम को लेकर खुद पर जो दबाव डालते हैं उससे आप हमेशा ज्यादा अच्छे, बेहतर और मजबूत होते हैं।

अगला कदम सीखने के लिए तैयार होना है। एक बार जब आप एक सूची बनाते हैं तो आप अपनी ताकत के बारे में ही नहीं बल्कि आपकी कमजोरियों के बारे में भी जागरूक हो जाते हैं, यानी, अब आप जानते हैं कि आप कहां कम पड़ रहे हैं। उदाहरण के लिए – यदि आप मार्केटिंग हेड के रूप में काम कर रहे हैं लेकिन आप बहुत मित्रवत नहीं हैं या यदि आप लोगों में घुलनेमिलनेवाले व्यक्ति नहीं हैं तो आप अपनी क्षमता का 100% देने में सक्षम नहीं होंगे, भले ही आपके पास एक अच्छी शैक्षणिक डिग्री हो। तो अलग-अलग लोगों से मित्रता करना और उनसे घुलनामिलना सीखें। उनके साथ बैठें, उनकी पसंद / नापसंदों और जीवन में उनकी प्रेरणा के बारे में बात करें। जितना अधिक आप लोगों के सकारात्मक पक्षों पर ध्यान देंगे, उतना ही आप उनसे सीखेंगे और बदले में वे आपके साथ ऐसी जानकारी साझा करना पसंद करेंगे। देखा? कितना आसान है!

कभी-कभी आपको बस एक या दो आदतें बदलनी पड़ती है और समस्या सुलझ जाती है। कार्यस्थल पर हमारी अधिकांश समस्याएं वास्तव में अहंकार के कारण हैं। यदि आपकी समस्या भी उनमें से एक है – जैसे कि यदि आप किसी भी असहमति या किसी चीज़ के कारण अपने मालिक / सहयोगियों / साथियों के साथ नहीं बनती हैं, तो आपको अपनी स्थिति का दोबारा मूल्यांकन करना होगा ताकि आप उनके नजर से समस्याओं को देख सकें। आप तटस्थ भाव से सोचिये। ऐसा व्यक्ति जिसके साथ आपको हर दिन मिलना और नमस्कार कहना होता है उनसे आप ऐसा तनावपूर्ण संबध रखना फायदेमंद होगा? कभी-कभी ऐसी छोटी-छोटी समस्याएं नकारात्मकता का एक बड़ा पर्वत बन जाती हैं। इससे आपको निपटने की ज़रूरत है। यदि खेद व्यक्त करने से या अधिक सौम्य या मित्रवत व्यवहार करने से यह सब हल हो सकता है, तो कृपया पहल करने में संकोच न करें – खासकर यदि आप अपने काम के बारे में जो महसूस करते हैं उसे सक्रिय रूप से बदलना चाहते हैं।

कुछ लोगों को काम के लंबे घंटे और समय सीमा को लेकर भी समस्या होती हैं। मुझे यह बताना अच्छा नहीं लगता, लेकिन हर कोई इसका सामना करता है। आपको खुद को सुधारना होगा। यदि आप हमेशा अच्छे काम करने का लक्ष्य रखते हैं, जिस पर कोई सवाल नहीं उठा सकता तब आप पर समय सीमा का कोई दबाव नहीं रहेगा। तो चलिए अपना सर्वोत्तम गुण अभी दिखाइए, उसे छुपकर पीछे मत रखिये

काम का आनंद लेने के सबसे सरल तरीकों में से एक है खुद को उम्मीदों के बोझ तले नहीं दबाना। गौरव या प्रशंसा या वेतन वृद्धि की चाहत के लिए काम ना करें! जब आप इन चीजों के बारे में बहुत सोचते हैं तो आप काम को अपना 100% नहीं दे पाते। अपने काम की गुणवत्ता को अपनी प्रेरणा बनाएं। जब आपका ध्यान उस ओर बदल जाता है तब गौरव, प्रशंसा और वेतन वृद्धि अपने आप ही बिना किसी परेशानी के आपके पास आ जाएगी। और फिर आप इसे एक वास्तविक उपलब्धि के रूप में देख पाएंगे! शुभकामनाएं और इन चीजों को अभी करना शुरू कीजिये!

मेरे ऑनलाइन पाठ्यक्रम ‘Money & Success’ में ऐसे कई विचार हैं जो आपकी छुपी क्षमताओं को सर्वोत्तम तरीके से बाहर निकलने के लिए साझा किए जाते हैं।

Share