How to Make Your Family Happy

Written by Sneh Desai on March 23, 2019

How to make your Family happy




Gone are the days when spending time with one another was the way we enjoyed life. Now with cell phones, after school classes and jobs that go around-the-clock, people have to think about better ways to keep their family happy. In my newly launched ‘MAD Family’ program, I talk about how you can build a family that is MAD: Mature, Affectionate and Divine. Here are some tips on how to do this:

1. Make It A Point To Enjoy Food Together –

When it comes to having fun with family members, the first thing that comes to mind is enjoying delicious food in the company of one another, relaxing and talking about stuff that happened during the week. In today’s fast-paced world, eating is something that’s done in a hurry. However, during the weekends or in holidays and even everyday at dinner time, make it a point to include some interesting dishes that get’s everyone in a good mood and talk about heartfelt matters, events that can help everyone to unwind.

2. Indulge in creative activities –

It’s easy to sit with a plate of potato chips in front of the television with your kids, wife, brother or sister, but real togetherness comes from indulging in activities like drawing, painting, reading aloud a book, sharing creative ideas or inspirational stories. Make it a point to sit down at least half an hour everyday or a couple of hours during weekends doing some fun crafts, arts, reading books, healthy discussions and other interesting things like this which enhances feelings of togetherness and happiness.

3. Do Cleaning Work Together –

Don’t make cleaning a chore that’s to be dreaded. Involve every family member subtly in some small activity in and around the house, but make it fun. For example, ask the kids to put all the toy clutter on the floor into a box for which they will get some chocolates. You can ask an older family member to fold clothes that are hanging in the garden, while spending time enjoying its beauty. Always be involved with the family when cleaning or doing any chore as togetherness will make it more fun and also enhance feelings of togetherness, cleanliness and responsibility.

4. Stay Away From Gadgets And Television –

Relationships are built around how much time you spend doing something constructive than just sit in front of the television watching movies or playing games on the laptop or tablet. It may be an effort to set aside phone calls or keep away from that attractive video, but do it and you can see more communication between you and everyone at home. When you keep away from the cell phone or movie, there is more time to sit in the garden, balcony and talk about something that’s important to share, read a book together or play with the kids without a distraction.

5. Talk About The Family History –

One of the most important things to share is information about family members… about grandparents, cousins, as this makes kids feel grounded, belonged and they feel happier. Tell kids about how your grandmother’s clever ideas, craft skills helped or talk about an incident when she provided good emotional support as such things gives kids important points on life from which they can learn, which is not present in any book, television serial or games.

6. Have Clear Financial Goals And Don’t Talk About Money Always –

People who are always worried about their sources of income aren’t very happy at home. If the problem is the pay scale at work, look into better career prospects and steer towards a job that’s more satisfying and better paying. Once you have desired income flow, plan how the money is going to be spent and look into how much can be saved. Smartly plan outings by checking out holiday options, freebies for vacation resorts, adventure trips at discounted rates so that you save money and spend quality time with your family.

7. Discuss Important Things Frankly, Even Those Matters That Are A Bit Delicate –

Brainstorm on how to get the message across on those matters that are sensitive to your spouse, kids or other family members. It’s how tactfully such matters are discussed that relationships get stronger and problems get out of the way. A small solution can address a big problem and lead to its conclusion too, but how well you discuss it, how subtly it is brought forth, the solution given determines how much happier you become. In my ‘Change Your Life’ workshop, many families share the deepest of their feelings after experiencing a practical technique on a relationship and resolve their years of animosity.

8. Keep Voices Down Even If You Have An Argument And Do Not Fight In Front Of The Kids –

When you talk in a low voice, the point is put forth, but your emotions are more controlled and it sets example for the other person. Furthermore, when you fight in front of kids, a bad example is set so avoid this. They need not know about adult issues which they cannot understand at a young age.

9. Listen to Music –

Music is one element that brings people together no matter what their age or interests. Get together popular tracks and listen to them together and sing out loud with each other. It’s fun, a great way to remove stress and also unwind from anything that’s been emotionally difficult.

अपने परिवार को कैसे खुश करें

वे दिन गए जब हम एक दूसरे के साथ समय बिताकर जीवन का आनंद लिया करते थे। अब सेल फोन आने से तथा स्कूल के बाद होनेवाली क्लासेस और चौबीसों घंटे रहनेवाली नौकरियों की शिफ्ट (कार्य पाली) के कारण, लोगों को अपने परिवार को खुश रखने के बेहतर तरीकों के बारे में सोचना होगा। मेरे नए शुरू किए गए ‘MAD’ फॅमिली ’कार्यक्रम में, मैं बात करता हूं कि आप कैसे एक परिवार को ‘MAD’ Mature, Affectionate and Divine (परिपक्व, स्नेहमय और दिव्य) परिवार बना सकते है। उसके कुछ सुझाव यहाँ दिए गए हैं:

1. मिलकर भोजन का आनंद ले –

जब परिवार के सदस्यों के साथ मौज-मस्ती करने की बात निकलती है, तब जो पहली बात मन में आती है वह है एक दूसरे के साथ स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेना, तनाव मुक्त होना और पूरे सप्ताह में बीती घटनाओं के बारे में बातें करना। आज की भागम-दौड़ वाली जिंदगी में, खाना जल्दबाज़ी में खा लिया जाता है। इसलिए सप्ताहांत (शनिवार-रविवार) के दौरान या छुट्टियों में या फिर हर रोज रात के खाने में, कुछ दिलचस्प व्यंजनों को शामिल करें। जिस कारण हर किसी का मूड अच्छा बन जाए ताकि वे अपनी दिल की वे बातें करें, उन घटनाओं के बारे में बताए जो उन्हें तनाव मुक्त करने में मदद कर सकती हैं।

2. रचनात्मक गतिविधियां करना –

अपने बच्चों, पत्नी, भाई या बहन के साथ टीवी के सामने आलू चिप्स की प्लेट लेकर बैठना आसान है, लेकिन असली निकटता चित्रकला, पेंटिंग, कोई किताब जोर से पढ़ना, रचनात्मक विचार या प्रेरणादायक कहानियों को साझा करना जैसी गतिविधियों से आती है। हर रोज कम से कम आधा घंटा या सप्ताहांत में कुछ घंटों के लिए कुछ अच्छी कारीगरी, कला-कुशलता, किताबें पढ़ना, स्वस्थ चर्चा और इस तरह की अन्य रोचक चीजें करने हेतु बैठने की योजना बनाये। ऐसा करना उत्साह, खुशी और एकजुटता की भावनाओं को बढ़ाती है।

3. मिलकर साफ़-सफाई करें –

सफाई को बोरियत भरा और डरावना काम न बनाए। परिवार के हर सदस्य को घर के अंदर-बाहर के किसी न किसी छोटे काम में शामिल करें, लेकिन इसे मनोरंजक बनाएं। उदाहरण के लिए, बच्चों से कहें कि यदि वे फर्श पर बिखरे सभी खिलौनों को एक बक्से में बंद कर देते हैं तो उन्हें कुछ चॉकलेट मिलेंगी। आप परिवार के किसी बुजुर्ग सदस्य को बगीचे में सूखने के लिए डाले गए कपड़ों को तह करने के लिए कह सकते हैं। बगीचे की सुंदरता का आनंद लेते हुए उन्हें यह काम करने में मजा आएगा। सफाई करते समय या कोई दूसरा काम करते समय हमेशा परिवार के साथ शामिल रहें क्योंकि घनिष्ठता से काम ज्यादा मजेदार बनेगा और साथ ही साथ साथ निकटता, स्वच्छता और जिम्मेदारी की भावनाओं को बढ़ाएगा।

4. गैजेट्स और टेलीविज़न से दूर रहें –

जब आप टीवी के सामने बैठकर फिल्में देखने या लैपटॉप या टैबलेट पर गेम खेलने के बजाय कुछ रचनात्मक काम को समय देते हैं, तब रिश्तें मजबूत होते हैं। फोन कॉल नहीं लेना या खुद को किसी आकर्षक वीडियो से दूर रखना- इसके लिए प्रयास लग सकता है। लेकिन ऐसा करने से आप देखेंगे कि आपके और घर के अन्य सभी सदस्यों के बीच बातचीत और व्यवहार बढ़ गया हैं। जब आप सेल फोन या फिल्मों से दूर रहेंगे, तो आपके पास बगीचे या बालकनी में बैठने और शेयर करने लायक कोई महत्वपूर्ण बात बताने, किताब पढ़ने या इधर-उधर ध्यान भटके बिना बच्चों के साथ खेलने के लिए ज्यादा समय रहेगा।

5. परिवार के इतिहास के बारे में बात करें –

साझा करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक परिवार के सदस्यों के बारे में जानकारी देना है, जैसे दादा-दादी, चचेरे ममेरे भाई-बहनों के बारे में बातें करना। क्योंकि इससे बच्चे स्थिरता, संबंधित होने का एहसास और खुशी महसूस करते हैं। बच्चों को बताएं कि कैसे उनकी नानी/दादी के बुद्धिमान विचार या होशियारी के कारण कोई काम बन गया था या किसी उस घटना के बारे में बात करें जब उन्होंने आपको भावनात्मक आधार दिया था। क्योंकि ऐसी चीजें बच्चों को जीवन की महत्वपूर्ण सीख देती हैं, जो किसी भी पुस्तक, टीवी सीरियल या गेम से नहीं मिलती।

6. पैसों के बारे में स्पष्ट लक्ष्य रखे और हमेशा पैसों के बारे में बात न करें –

जो लोग हमेशा अपनी आय के बारे में चिंतित रहते हैं, वे घर पर बहुत खुश नहीं होते हैं। यदि समस्या काम के वेतनमान की है, तो बेहतर कैरियर की संभावनाओं पर गौर करें और वह नौकरी ढूंढे जो अधिक संतोषजनक हो और बेहतर आमदनी देती हो। जब आपको इच्छित इनकम मिलने लगे तो योजना बनाएं कि धन को कैसे खर्च करना है और कितना पैसा बचाया जा सकता है। छुट्टीयां कैसी बितायी जाए, रिसॉर्ट में छुट्टियों के लिए मुफ्त की छूट कैसे प्राप्त की जाए, रियायती दरों पर की जानेवाली साहसिक यात्राएं इत्यादी के बारे में जानकारी निकाले और बुद्धिमानी से बाहर समय बिताने का प्लान करें ताकि आप पैसे बचा सकें और अपने परिवार के साथ अच्छा समय भी बिता सकें।

7. महत्वपूर्ण बातों पर स्पष्ट रूप से चर्चा करें, भले वह नाजुक मामलें ही क्यों न हो –

आपके पति या पत्नी, बच्चे या परिवार के अन्य सदस्य जिन मामलों के प्रति संवेदनशील हो ऐसे मामलों को उन तक कैसे पहुंचाए, इस पर गंभीरता से सोचे। इस तरह के मामलों पर कितनी चतुराई से चर्चा की जाती है, इस पर रिश्ते मजबूत होना और समस्याएं खत्म होना निर्भर करता है। एक छोटा सा समाधान एक बड़ी समस्या को हल कर सकता है और निष्कर्ष भी निकाल सकता है, लेकिन आप इस पर कितनी अच्छी तरह चर्चा करते हैं, कितनी आसानी से इसे सामने लाया जाता है, दिया गया समाधान कैसा है – यह तय करता है कि आप कितने खुश हुए हैं। मेरे ‘Change Your Life’ (चेंज योर लाइफ़) कार्यक्रम में, कई परिवार रिश्तों पर एक व्यावहारिक समाधान का अनुभव करने के बाद अपनी अंदर की भावनाओं को साझा करते हैं और अपने वर्षों पुरानी दुश्मनी को हल करते हैं।

8. आवाज नीचे रखें, भले ही आपके पास अच्छा तर्क हो और बच्चों के सामने लड़ाई न करें –

जब आप कम आवाज में बात करते हैं, तब बात सामने तो रखी जाती है, लेकिन आपकी भावनाएं नियंत्रण में रहती है है। यह दूसरे व्यक्ति के लिए एक अच्छा उदाहरण बनता है। इसके अलावा, जब आप बच्चों के सामने लड़ते हैं, तो एक बुरी मिसाल कायम की जाती है, इसलिए इससे हमेशा बचें। बच्चों को बड़ों की बातें जानने की आवश्यकता नहीं है जिन्हें वे अपनी कम उम्र में समझ नहीं सकते।

9. संगीत सुनें –

संगीत ऐसी चीज है जो लोगों को एक साथ लाती है चाहे उनकी उम्र या रुचि कुछ भी हो। आप लोकप्रिय गाने चुनें, उन्हें एक साथ सुनें और एक दूसरे के साथ ज़ोर से गाएं। यह आनंद देता है, तनाव को दूर करने का एक शानदार तरीका है और भावनात्मक रूप से मुश्किल रहनेवाली किसी भी चीज़ के तनाव को कम करती है।

Share