How to Overcome any Negative Experience of Your Life

Written by Sneh Desai on April 13, 2019

How to overcome negative Experience




Let’s face the fact. Life is a bundle of positive and negative experiences, but we all make the mistake of thinking more about negative things than the positive ones.The setbacks that happen make us sad, depressed and also affect our relationships. Soon, I am going to have my new batch of ‘Experience Awakening’ program. One of the reasons why my participants love to attend this program is because they finally learn to overcome any negative experience of their life.

So, no matter what happened, here are some important tips that can help you overcome that negative experience, become a better person, get back to who you really are and what you like to do:

1. If a negative experience happens, there is bound to be turn of events. So be patient… wait and see what happens afterwards to make a real assessment of the experience and then come to conclusion on what should be learnt from it. Rash thinking or quick judgement does not come to aid in such matters as you need to wait a bit to see an outcome from it… perhaps someone else’s actions that has brought about a change of the situation etc.

2. Don’t blame anyone and also yourself. Stop trying to pin the cause of the situation on anything or anyone. It is a path that leads to nowhere. Instead accept that such a problem has happened. Accepting also helps to get the reality of the event into the mind and heart and also to overcome it. Once you have accepted it, think of a solution that can help overcome it. In case there is no specific solution to the situation, learn to live with it by keeping the mind and heart focused on other better matters in life.

3. A negative experience always brings out deep anger, which is the sole cause to blame in not getting out of it. This emotion also eliminates other emotions and you stop thinking on how to get yourself out of it. Anger is very stressful, so keep it down by taking long walks, meditation or doing yoga. Once you have learnt to curb anger, your mind becomes calmer and automatically seeks a solution to the problem at hand.

4. Take up something new to learn as it’s a great way of bringing down unhappiness caused by the negative experience. Learning music, crafts, physical exercises or games etc. will help focus your mind elsewhere than the problem. It will help get away from it poor impact on heart and mind and once you have the least impact from it, solutions come to the mind quickly. You also get into a fitter mind to deal with the situation that before.

5. One very effective way of dealing with negative life experiences is to write down all your feelings onto a piece of paper. Write as much as you want, as many times as you feel, but afterwards …tear off the paper. Writing down your feelings helps to better understand yourself and also the current situation. It also brings down levels of stress and tension and is a strong means of overcoming the situation.

6. Go to a place that’s different from where you live currently and in which the experience occurred. You can plan a couple of day’s trip with your friends specifically for this. At this new place, your mind will be dealing with new things and likewise the heart gets influenced. Now is the time to tell yourself about what you have learnt from the situation and also to think about not reliving it over and over again, which once again leads to no solution.

7. Think positively or about those things that make you feel better so that the depressive emotions about the negative situation are pushed to the back of your mind. It’s very important to think about more passive incidents, better situations or take up some activity that make you feel positive and gets you back on track emotionally and mentally. Going over the negative experience repeatedly will only zap off all the energy and strength in your body and mind.

If you like this blog, don’t forget to comment and share it with others.

अपने जीवन के किसी भी नकारात्मक अनुभव को कैसे दूर करें

सच्चाई यह है कि जीवन अच्छे और बुरे अनुभवों की एक गठड़ी है। लेकिन हम सभी सकारात्मक चीजों की तुलना में नकारात्मक चीजों के बारे में ज्यादा सोचने की गलती करते हैं। असफलताएं हमें दुखी, उदास करती हैं और हमारे रिश्तों को भी प्रभावित करती हैं। जल्द ही, मेरे ‘Experience Awakening’ (जाग्रति का अनुभव कीजिये) कार्यक्रम का नया बैच शुरू होने वाला है। मेरे प्रतिभागियों को इस कार्यक्रम में शामिल होना पसंद है, क्योंकि इसमें वे अपने जीवन के किसी भी नकारात्मक अनुभव को दूर करना सीखते हैं।

सो, जीवन में जो भी हुआ हो, यहां कुछ ऐसे महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं जो आपको उस नकारात्मक अनुभव को दूर करने में, आपको एक बेहतर व्यक्ति बनने में, आपको आपके वास्तविक रूप में आने में और आपको जो पसंद है वह करने में, आपकी मदद कर सकते हैं:

1. यदि कोई नकारात्मक अनुभव होता है, तो चीजें बदलती है। इसलिए धैर्य रखिये… अनुभव का वास्तविक आकलन करने के लिए प्रतीक्षा कीजिये और देखिये कि बाद में क्या होता है। फिर इससे क्या सीखा जाना चाहिए, यह निष्कर्ष निकालिए। अविवेकी सोच या फटाफट निर्णय ऐसे मामलों में मदद नहीं करते क्योंकि आपको इसके परिणाम देखने के लिए थोड़ा इंतजार करने की आवश्यकता है … शायद किसी और के काम ने परिस्थिति बदल दी हो या ऐसी दूसरी बातें भी हो सकती है जिस कारण स्थिति में बदलाव आया हो।

2. किसी और को दोष न दें और खुद को भी दोषी न माने। किसी चीज़ को या किसी व्यक्ति को इस स्थिति के लिए दोष देना भी बंद कीजिये। इससे कोई फायदा नहीं होता है। इसके विपरीत समस्या हुई है यह स्वीकार कर लीजिये। स्वीकार करने से घटना की वास्तविकता को दिमाग और दिल में उतारने में मदद मिलती है और इससे उबरने में भी मदद होती है। एक बार जब आप इसे स्वीकार कर लेते हैं, तो एक ऐसा उपाय सोचिये जो इसे दूर करने में मदद कर सके। यदि स्थिति का कोई विशेष समाधान नहीं है, तो जीवन में अन्य बेहतर मामलों पर ध्यान और दिल लगाकर इसके साथ रहना सीखिए।

3. एक नकारात्मक अनुभव हमेशा बहुत ज्यादा गुस्सा दिलाता है। अगर इस गुस्से को बाहर नहीं निकाले तो नकारात्मक भावना बढ़ती है। यह भावना अन्य भावनाओं को भी ख़त्म कर देती है और आप यह सोचना बंद कर देते हैं कि खुद को इससे कैसे निकाला जाए। गुस्सा बहुत तनावपूर्ण है, इसलिए लंबी सैर, ध्यान या योग से इसे कम कीजिये। एक बार जब आपने आपके गुस्से को रोकना सीख लिया, तो आपका दिमाग शांत हो जाता है और आप खुद ही सामने खड़ी समस्या का हल ढूंढ लेते है।

4. कोई नई चीज सीखिए, क्योंकि यह नकारात्मक अनुभव के कारण होने वाले दुःख को कम करने का एक शानदार तरीका है। संगीत, शिल्प-कला, शारीरिक व्यायाम या खेल आदि सीखिए। इससे आपके दिमाग को, समस्या से कहीं और ध्यान केंद्रित करने में मदद होगी। यह दिल और दिमाग पर हो रहे बुरे असर को दूर करने में भी मदद करेगा। और जब आप पर इसका कम प्रभाव होगा, तो समाधान भी जल्दी से दिमाग में आयेगा। ऐसी स्थिति फिर आने से उसका सामना करने के लिए आपका दिमाग पहले से ज्यादा फिट रहेगा।

5. नकारात्मक जीवन के अनुभवों से निपटने का एक बहुत प्रभावी तरीका, कागज के एक टुकड़े पर अपनी सभी भावनाओं को लिखना है। जितना चाहें उतना लिखें, जितनी बार महसूस करें, उतनी बार लिखें लेकिन बाद में… कागज को फाड़ दें। अपनी भावनाओं को लिखने से खुद को और वर्तमान स्थिति को भी बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है। यह टेंशन और तनाव के स्तर को भी नीचे लाता है और स्थिति पर काबू पाने का एक मजबूत साधन है।

6. आप उस जगह पर जाएं जो आपके वर्तमान जगह और जहां बुरा अनुभव हुआ, उससे अलग है। आप विशेष रूप से इसके लिए अपने दोस्तों के साथ दो-तिन दिन की यात्रा का प्लान बना सकते हैं। इस नई जगह पर, आपका दिमाग नई चीजों से निपटेगा और इसी तरह दिल भी प्रभावित होगा। अब समय है कि आप खुद को यह बताएं कि, आपने ऐसी स्थिति से क्या सीखा है और इस स्थिति को दूर न करने के बारे में क्या सोचते थे।

7. सकारात्मक सोचें या उन चीजों के बारे में सोचें जो आपको अच्छा महसूस कराती हैं ताकि नकारात्मक स्थिति से आया डिप्रेशन आपके दिमाग के पीछे चला जाएं। अधिक निष्क्रिय घटनाओं, बेहतर स्थितियों के बारे में सोचना या कोई ऐसी गतिविधि करना बहुत महत्वपूर्ण है जो आपको सकारात्मक महसूस कराए और आपको भावनात्मक और मानसिक रूप से वापस पटरी पर लाए। बार-बार नकारात्मक अनुभव से आपके शरीर और दिमाग की सारी ऊर्जा और ताकत को झकझोर देगी।

यदि आप इस ब्लॉग को पसंद करते हैं, तो कमेंट करना न भूलें और इसे अन्य लोगों के साथ शेअर करें।

Share